डेंगू से फिर एक मौत, इन अस्‍पतालों में आप करवा सकते हैं डेंगू का मुफ्त इलाज देखें लिस्‍ट

0
280
हितेश शर्मा
दुर्ग। छावनी इलाके के 13 साल मुकेश की जिंदगी डेगू ने ले ली। उसका इलाज बीएम शाह अस्‍पताल में हो रहा था। घर वाले इस बात से परेशान हैं कि कल तक हंसता खेलता मुकेश ऐसे कैसे दुनिया छोड़कर जा सकता है। मीडिया के लिए मुकेश की मौत वो आंकड़ा है जिसे अपडेट कर दिया गया है। अब दुर्ग में 12 मौतें हो चुकी हैं डेंगू की वजह से। आम लोगों ने अब डेंगू से हो रही मौत की खबरें पढ़ना छोड़ दिया है।
मगर इन सब के बीच डेंगू बढ़ रहा है और विकराल होता जा रहा है। इसकी कोई गारंटी नहीं कि जिन्‍हें आज डेंगू नहीं है वो कल भी सुरक्षित ही रहेंगे। भले ही एक बड़े वर्ग के लोगों का ध्‍यान डेंगू की परेशानी से हट रहा हो मगर डेंगू नहीं हट रहा वो बना हुआ है।
अधिकारियों का अमला बैठक ले रहा है, कोशिशें हो रही हैं कि डेंगू के बढ़ते कदमों को रोका जाए। अगर आपके आस-पास किसी को डेंगू की तकलीफ हो तो फौरन अस्‍पताल जाएं क्‍योंकि इस बीमारी में मौत का कारण इलाज में देरी भी है। कुछ अस्‍पताल सरकार ने निर्धारित हैं जो इलाके में डेंगू का मुफ्त इलाज आपको मुहैया कराएंगे।
शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज, जुनवानी
सीएम मेडिकल कॉलेज, कचांदूर
गायत्री हॉस्‍पि‍टल, प्रियदर्शनी परिसर
आर्शीवाद नर्सिंग होम, सुपेला
सुपेला नर्सिंग होग, सुपेला
सूरज नर्सिंग होम, कोहका
स्‍पर्श हॉस्‍पि‍टल, सुपेला
भिलाई नर्सिंग होम, सुपेला
रिवाईवल हॉस्‍पि‍टल, सुपेला
बीएम शाह हॉस्‍पि‍टल, भिलाई
प्रज्ञा नर्सिंग होम, पावर हाउस भिलाई
करूणा हॉस्‍पि‍टल, पावर हाउस भिलाई
अपोलो बीएसआर हॉस्‍पीटल जुनवानी
एसआर हॉस्‍प‍िटल, चिखली
एसएस हॉस्‍पि‍टल, छावनी चौक भिलाई
गिंदौड़ी देवी चेरीटेबल ट्रस्‍ट हॉस्‍पि‍टल खुर्सीपार
चंदूलाल चंद्राकर हॉस्‍पि‍टल,
आईएमआई हॉस्‍पीटल खुर्सीपार
यशोदा नंदन चिल्‍ड्रन हॉस्‍पि‍टल, दुर्ग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.