केरल बाढ़: एयरफोर्स ने छत पर चॉपर उतारकर बचाई 26 लोगों की जान

0
103

बारिश ने केरल में पिछले 100 सालों का रिकॉर्ड तोड़ा

केरल। केरल इन दिनों बाढ़ और मूसलाधार बारिश की मार झेल रहा है। बारिश ने यहां पिछले 100 सालों का रिकॉर्ड तोड़ा है। थलसेना, वायुसेना, नौसेना और एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी है। सेना के जवान अपनी जान पर खेल कर बाढ़ प्रभावित इलाकों से लोगों की जिंदगियां बचा रहे हैं। बाढ़ प्रभावित केरल में भारतीय सेना की तरफ से ‘ऑपरेशन मदद’ चलाया जा रहा है। राहत और बचाव कार्य के लिए जलसेना, वायुसेना, थलसेना, कोस्ट गार्ड और एनडीआरएफ की टीमें काम कर रही हैं। शुक्रवार को वायुसेना में कैप्टन पी. राजकुमार की टीम ने एक बाढ़ प्रभावित इलाके में घने पेड़ों के बीच घर की छत पर चॉपर लैंड कर दी और यहां से 26 लोगों को बचाया। इसमें एक प्रेग्नेंट महिला भी शामिल थीं।

कैप्टन पी. राजकुमार के इस अदम्य साहस की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है. छत पर चॉपर उतरवा कर लोगों को एयरलिफ्ट कराने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इससे समझा जा सकता है कि सेना किस हद तक जाकर लोगों की जिंदगी बचाने का काम रही है।

पीएम ने जारी किया 500 करोड़ का राहत पैकेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कोच्चि में मुख्यमंत्री विजयन सहित तमाम आला अधिकारियों के साथ मंथन किया और बाढ़ राहत के लिए 500 करोड़ के पैकेज का ऐलान किया है। हालांकि, केरल के सीएम पिनराई विजयन ने पीएम मोदी को बताया था कि बाढ़ और लैंडस्लाइड से राज्य को कुल 19, 512 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। लेकिन, सरकार ने फिलहाल 500 करोड़ के अतिरिक्त पैकेज का ऐलान किया है। इसके पहले मोदी सरकार केरल के लिए 100 करोड़ का पैकेज दे चुकी है।

केरल में बाढ़ और लैंडस्लाइड से अब तक 324 लोगों की मौत

बता दें कि केरल में लैंडस्लाइड और बाढ़ से अब तक 324 लोगों की जान जा चुकी है। करीब तीन लाख लोग बेघर बताए जा रहे हैं। करीब 2 लाख 23 हजार लोगों को 1500 राहत शिविरों में पहुंचाया गया है। सरकार ने लोगों से डोनेशन की अपील की है। वहीं बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है।

केरल में सेना चला रही ‘ऑपरेशन मदद’

बता दें कि बाढ़ प्रभावित केरल में भारतीय सेना की तरफ से ‘ऑपरेशन मदद’ चलाया जा रहा है। राहत और बचाव कार्य के लिए जलसेना, वायुसेना, थलसेना, कोस्ट गार्ड और एनडीआरएफ की टीमें काम कर रही हैं। सेना और एनडीआरएफ की टीमें रिलीफ कैंपों में रहे रहे बाढ़ पीड़ितों के लिए खाने-पीने की चीजें भी पहुंचा रही है।
read also:राजकीय शोक में राशन दुकान बंद लेकिन शराब दुकानें खुलीं, युवा जनता कांग्रेस जोगी ने किया विरोध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.