By मनोज यादव
कोरबा। अंतर्राज्यीय ठग गिरोह के एक सदस्य को दर्री पुलिस ने लखनऊ से घरदबोचा है। पकडे गए आरोपी ने कुछ दिनों पहले ही रिटायर्ड सीएसईबी कर्मी से एटीएम बदल कर ठगी की थी। आरोपी के पास से चोरी की दो बाइक और नकदी रकम समेत हज़ारों रुपये बरामद किया गया है।
कुछ दिनों पहले दर्री के साडा कालोनी निवासी राम बाबू साहू से अंतर्राज्यीय ठग गिरोह के कुछ सदस्यों ने एटीएम बदल कर लाखों रुपये निकाल चंपत हो गए थे। पीड़ित ने इसकी शिकायत दर्री थाना में दर्ज कराई थी। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई थी और इस मामले में एमपी शहडोल निवासी शातिर ठग गिरोह के एक आरोपी को अब लखनऊ से पकड़ा है। आरोपी राजेश प्रताप सिंह से नकदी रकम और चोरी की दो मोटरसाइकिल बरामद किया गया है।
दर्री थाना प्रभारी साधना सिंह ने बताया कि घटना में आरोपी के तीन अन्य सहयोगियों ने भी एटीएम के बाहर ठगी करने में सहयोग किया था। सभी अंतर्राज्यीय गिरोह के सदस्य हैं। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पांच लोगों की टीम बना कर भेजा गया है। पुलिस बाकी आरोपियों की तालाश में जुटी हुई है।
यह गिरोह छत्तीसगढ़ के बड़े शहरों में वारदात को अंजाम दिया करते थे। होटल में रुक कर पहले शहर के रेकी करते थे, फिर नियोजित ठंग से घटना को अंजाम देकर फरार हो जाते थे। छग में बिलासपुर, कोरबा के अलावा अन्य जगहों पर शातिर ठग गिरोह ने घटना को अंजाम दिया है। ठग गिरोह के चारों आरोपी एमपी के रहने वाले हैं।
पीड़ित के खाते से आखिर ऐसे उड़ाए लाखों रकम
एटीएम के बाहर पहले से गिरोह के चार सदस्य खड़े थे। इस दौरान पीड़ित का पैसा एटीएम ने रुपये नही निकल रहा था, तब शातिर ठग गिरोह का एक सदस्य उसके एटीएम से पैसा निकाल देने की बात कहते एटीएम का कोड पूछकर और पांच हजार रुपए निकाल कर दे दिया, लेकिन शातिराना अंदाज से एटीएम बदल लिया। पीड़ित को दूसरे दिन मोबाइल पर मैसेज आया कि उसके खाते से 1 लाख 58 हजार निकल गया है। एटीएम ब्लाक कराने तक आरोपियों ऑनलाइन खरीदी भी कर डाली। पीड़ित के खाते से लगभग 2 लाख से ऊपर पैसे ठग गिरोह ने निकाल लिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.