रायपुर।  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बुधवार को नई दिल्ली में रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ मुलाकात । एक औपचारिक बैठक भी इस मौके पर रखी गई। इस बैठक में रेल्‍वे के आला अधिकारी भी मौजूद थे।
छत्तीसगढ़ में रेल नेटवर्क और यात्री सुविधाओं के विकास और विस्तार के लिए कई प्रोजेक्‍टस पर इस दौरान बात-चीत हुई। सीएम की तरफ से आए प्रस्‍तावों पर मंत्री गोयल ने सैद्धांतिक रूप से अपनी मंजूरी दे दी।
इनमें से सात रेलवे स्टेशनों के रिनोवोशन का प्रोजेक्‍ट भी शामिल है। 17 रेल्वे ओव्हर ब्रिजों और रेल्वे अंडर ब्रिजों के निर्माण के लिए रेल मंत्री ने सहमति और स्वीकृति तुरंत दे दी।
मंत्री  गोयल ने कहा कि सभी प्रस्तावों पर रेल मंत्रालय द्वारा सर्वेक्षण जल्द शुरू करवाया जाएगा।
उन्‍होंने रेल मंत्रालय के अधिकारियों को दुर्ग – कटघोरा – मुंगेली – कवर्धा – डोगंरगढ़ रेल लाईन के विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन और सी.सी.ई.ए. की जल्द स्वीकृति देने के निर्देश दिए ।
उन्होने दुर्ग, रायगढ़, कोरबा, पेंड्रारोड़, डोंगरगढ़, भिलाई तथा अंबिकापुर रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास और बीकानेर-बिलासपुर ट्रेन को दुर्ग तक बढ़ाने तथा विशाखापट्नम-जगदलपुर स्पेशल किराया ट्रेन को सामान्य किराये पर नियमित ट्रेन के रुप में चलाने की भी स्वीकृति प्रदान कर दी।
जिन 17 स्‍टेश्‍नों पर काम की मंजूरी मिली उनमें रायगढ़ रेल मार्ग पर कोतरलिया, किरोड़ीमलनगर, भूपदेवपुर, रॉबर्टसन तथा खरसिया यार्ड भी शामिल हैं।
बैठक में मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ से लखनऊ, पटना, पुणे, जम्मू, कन्याकुमारी और तिरूनंतपुरम के लिए सुपरफास्ट रेल सेवा प्रारंभ करने की मांग की। उन्होंने राजनांदगांव, तिल्दा और भाटापारा में ट्रेनों के स्टापेज और रायगढ़, डोंगरगढ़ और अंबिकापुर में कोचिंग टर्मिनल प्रारंभ करने की भी बात की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.