खबर का असरः किसानों को थमा रहे थे एक्सपायरी दवा, मामला खुला तो अधिकारी ने 20 दिन के लिये लगाई रोक

0
138
By किशोर साहू
बालोद। जिले के सेवा सहकारी समिति, लाटाबोड़ में किसानों को एक्सपायरी डेट की दवा देने के मामले में प्रभारी कृषि अधिकारी आशीष चन्द्राकर ने कार्रवाई की है। अधिकारी ने समिति में हमादा दवाई बेचने पर २० दिन के लिये रोक लगा दी है। THE VOICES में खबर छपने के बाद अधिकारी ने कार्रवाई की। मामले का खुलासा तब हुआ था, जब एक किसान से हिप्को कम्पनी की हमादा दवाई खरीदकर घर ले गया। वहां उसने एक्सपायरी डेट को देखा तो दंग रह गया। दवा एक्सपायर हो चुकी थी।
जानकारी के मुताबिक लाटाबोड़ पंचायत का किसान हरिशचन्द्र साहू अपने धान में लगे तनाछेद बीमारी को दबर करने के लिये लाटाबोड़ के सहकारी समिति से हिप्को कम्पनी की हमादा दवाई खरीदी। जब किसान घर जा कर दवाई की तारीख को देखा तो दवाई का डेट एक्सपायर हो चुकी थी।
इसने इसकी शिकायत शिकायत कृषि विभाग बालोद में की। मामले में मिडिया ने सेवा सहकारी समिति लाटाबोड़ प्रबधक जगत राम से बात की तो उनका कहना है की किसान को धोखे में दवाई दिया गया। किसान से दवाई ले ली गई है। जब मिडिया ने किसान से दवाई समिति में वापस नहीं लिया जाने की बात कही तो घोलमोल जवाब देते नजर आए। वहीं प्रभारी कृषि अधिकारी आशीष चन्द्राकर सवालों से घिरने के बाद मामले की जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कहते नजर आए थे।
वहीं ग्रामीणों ने कहा कि किसान पढ़े लिखे नहीं होते, जिसका फायदा उठाकर अधिकारी किसानों को एक्सपायरी डेट की दवाई थमा देते है। इससे किसानों को की फसल ठीक होने के बजाय और अधिक खराब हो जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.