डेंगू से कुछ राहत दे सकती है लगातार हो रही तेज बारिश- आईएमए

0
110
रायपुर। प्रदेश में हो रही तेज बारिश कुछ हद तक डेंगू के कंट्रोल में मददगार साबित हो सकती है। यह खुलासा आईएएम के सीनियर डॉक्‍टर ने किया है। उनका कहना है कि तेज बारिश के कारण मच्‍छरों का पनपना कम हो जाता है।
The Voices से बातचीत करते हुए नेशनल आईएमए के सेंट्रल कौंसिल के मेंबर और एपीआई के छत्‍तीसगढ़ प्रमुख डॉ अजय सहाय ने कहा, ‘ दरअसल, मच्‍छर जमा पानी में पनपते हैं। खासकर, छायादार स्‍थानों में मच्‍छरों के पनपने की आशंका ज्‍यादा होती है। लेकिन, तेज बारिश के कारण जमा पानी में बहाव आ जाता है। बहाव के कारण जमा पानी में मौजूद मच्‍छरों के अंडे, लार्वा और प्‍युपा बह जाते हैं। इससे नए मच्‍छर नहीं पनप पाते हैं।
डॉ. अजय सहाय, मेंबर, सेंट्रल कौंसिल ऑफ़ नेशनल आईएमए एवं अध्यक्ष, एपीआई (छत्तीसगढ़)
डॉ सहाय ने कहा, ‘ फॉगिंग के दौरान लोग धुएं से बचने के लिए अक्‍सर खिड़की, दरवाजे आदि बंद कर देते हैं। इससे घर के भीतर मौजूद मच्‍छर भी सुरक्षित रह जाते हैं और फॉगिंग का असर नहीं हो पाता। इसलिए लोगों को चाहिए, कि वे फॉगिंग के दौरान खिड़की, दरवाजे बंद न करें और धुएं को कोने-कोने तक जाने दें। मच्‍छर न पनपे, इसके लिए जरूरी है कि पानी जमा न होने दें। पीने के लिए रखे गए पानी को पर्याप्‍त रूप से ढंककर रखें। गर्म पानी का सेवन करें।

गौरतलब है कि इस समय प्रदेश में डेंगू का असर चौतरफा है। कई जिलों में जानें जा चुकी हैं। सर्वाधिक प्रभावित दुर्ग जिला है, जहां दुर्ग और भिलाई दोनों शहरों में दो दर्जन से ज्‍यादा डेंगू से मौतें हो चुकी हैं। इसके अलावा अन्‍य जिलों से भी डेंगू से मौत की खबरें आ रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.