हाथी प्रभावित इलाकों में मुआवजे का अनाप-शनाप वितरण, ग्रामीणों ने की कलेक्‍टर से शिकायत

0
254
By मृगेन्‍द्र सिंह
अंबिकापुर। सरगुजा जिले के मैनपाट इलाके में स्थित बरिमा के जनजातीय समुदाय ने हाथियों द्वारा क्षतिग्रस्‍त मकानों के एवज में गलत तरीके से मुआवजा दिए जाने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का कहना है, कि जो मुआवजा के सही हकदार हैं, उन्‍हें कम और जो नहीं हैं, उन्‍हें ज्‍यादा मुआवजे की राशि दी जा रही है। ग्रामीणों ने इस संबंध में एक पत्र कलेक्‍टर को भी लिखा है और उचित कार्यवाही की मांग की है।
अपने पत्र में ग्रामीणों ने कहा है कि मुआवजा वितरण के पहले वनविभाग द्वारा किए गए सर्वे में भी कायदों का पालन नहीं किया गया है। सर्वे और जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की गई है। ग्रामीणों का कहना है, कई ऐसे ग्रामीण हैं, जिनके मकान हाथियों ने पूरी चौपट कर दिए हैं, लेकिन उन्‍हें कम मुआवजा दिया गया, जबकि जो पहुंच रखने वाले लोग हैं, उन्‍हें अच्‍छी खासी रकम मुआवजे के रूप में दी जा रही है।
हालांकि इस मामले में मैनपाट रेंजर ने कहा है कि मुआवजा वितरण के मामले में नियमों का पूरी तरह पालन किया गया है। फिर भी, कहीं से ऐसी शिकायत आती है, तो उसकी जांच कर उचित कार्यवाही करेंगे।
जिले की प्रभारी कलेक्‍टर नम्रता गांधी को जब इस बात की जानकारी दी गई, तो उनका कहना था कि ऐसी कोई शिकायत मेरी जानकारी में नहीं है। मुआवजे का वितरण की प्रक्रिया वनविभाग के जरिए होती है। यदि हमारे पास पत्र आएगा, तो इस पर जरूर कार्यवाही करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.