रायपुर। छत्तीसगढ़ में आज सुबह से हो रही लगातार बारिश का कहर दिखना शुरू हो गया है। राजधानी के कई सड़क, चौक जहाँ जलमग्न हो चुके हैं, वही तेलीबांधा थाने में पानी भर गया है। उधर दुर्ग जिले में शिवनाथ नदी भी उफान पर है, जिसे पार करना खतरे से खाली नहीं है। खबर है कि कांकेर जिले के चारामा में तेज बारिश के कारण जमीन खिसकने की घटना हुई है। आसपास के लोगों में दहशत है। अबुझमाड़ को मैदानी इलाकों से जोड़ने वाले एक निर्माणाधीन पूल के भी धसकने की जानकारी आ रही है।
प्रदेश में तेज़ बारिश का असर जन-जीवन पर पड़ना शुरू हो गया है। राजधानी में लगभग बंद जैसे नज़ारे हैं। अधिकाँश दुकानें बंद हैं, तो सड़क पर आवागमन भी ठप सा है। यहाँ के तेलीबांधा थाने में पानी भर गया है।
इसी तरह, दुर्ग जिले की जीवनदायिनी कही जाने वाली शिवनाथ नदी उफान पर है। अगर बारिश ऐसी ही रही, तो कुछ देर बाद दुर्ग से शिवनाथ के तांडव के खबरें आ सकती है। फिलहाल, इस नदी को पार करना खतरनाक साबित हो रहा है।

नारायणपुर जिले में अबूझमाड़ को समतल इलाकों से जोड़ने वाले एक निर्माणाधीन पूल के धसकने की खबर है। इस पूल को 90 लाख की लागत में बनाया जा रहा था। फिलहाल, अबूझमाड़ से जिला मुख्यालय का सड़क संपर्क अवरुद्ध है।
कांकेर से आगे जगदलपुर जाना भी फ़िलहाल मुमकिन नहीं, क्योंकि कांकेर जिले के चारामा के आसपास एक स्थान पर लैंड स्लाइडिंग ( जमीन खिसकने ) की खबर आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.